Para Athlete Nishad Kumar Biography in Hindi | पैरा एथलीट निषाद कुमार की जीवनी

पैरा एथलीट निषाद कुमार जीवनी, आयु | पैरा एथलीट निषाद कुमार जीवनी (Para Athlete Nishad Kumar Biography, Age | Para Athlete Nishad Kumar Biography)

अवनि लेखारा ने ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों में निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनकर इतिहास रच दिया

सबसे पहले, भाविना पटेल ने टोक्यो पैरालिंपिक में महिला टेबल टेनिस स्पर्धा के कक्षा 4 के फाइनल में रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया।

निषाद कुमार ने ऊंची कूद (High Jump) में एशियाई रिकॉर्ड तोड़ा। उन्होंने इतिहास रचते हुए रजत पदक जीता है। एक अन्य अमेरिकी रॉडरिक टाउनसेंड ने 2.15 मीटर की विश्व रिकॉर्ड छलांग के साथ स्वर्ण पदक जीता। यह टोक्यो पैरालिंपिक में भारत का दूसरा पदक है। इससे पहले भावनाबेन पटेल ने रविवार को महिला एकल टेबल टेनिस वर्ग 4 स्पर्धा में रजत पदक जीता था।


यह भी पढ़ें (Also Read

सुंदर पिचाई की जीवनी हिंदी में (Sundar Pichai Biography in Hindi)

जेफ बेजोस की जीवनी हिंदी में (Jeff Bezos Biography in Hindi)



निषाद कुमार की जीवनी - टोक्यो 2020 पैरालंपिक खेल (Nishad Kumar Biography – Tokyo 2020 Paralympic Games )

जापान की राजधानी में चल रहे पैरालंपिक खेलों में भारत आज 'रजत' हो गया। टेबल टेनिस में भाविनाबेन के बाद निषाद कुमार ने एथलेटिक्स में भी सिल्वर मेडल जीता। ऊंची कूद टी47 स्पर्धा में भाग लेने वाले निषाद ने 2.06 मीटर के समय के साथ रजत पदक जीता।

निषाद कुमार जीवनी | पैरा एथलीट निषाद कुमार जीवनी (Nishad Kumar Biography | Para Athlete Nishad Kumar Biography)

तीन साल पहले ही खेल की शुरुआत की थी साल 2019 में खेलों में पदार्पण करने वाले निषाद की जितनी तारीफ की जाए कम है। उन्होंने पैरालंपिक में रजत पदक जीतकर एशियाई रिकॉर्ड की भी बराबरी की। यह निषाद कुमार का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। एक अन्य भारतीय एथलीट राम पाल का खेल भी काबिले तारीफ था। वह 1.94 मीटर की छलांग के साथ पांचवें स्थान पर रहे, जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है।


नामनिषाद कुमार
निक नामनिषाद
जन्म2000
जन्म स्थानहिमाचल प्रदेश, भारत
गाँवबदायूं
राष्ट्रीयताभारतीय
धर्महिंदू
खेलउछाल
कोचसत्य नारायण



पैरा एथलीट निषाद कुमार कौन हैं/ पैरा एथलीट निषाद कुमार की जीवनी (Who is Para Athlete Nishad Kumar / Para Athlete Nishad Kumar Biography)

दिल में कुछ कर गुजरने की तमन्ना हो तो बड़ी से बड़ी चुनौती भी इंसान को मंजिल तक पहुंचने से नहीं रोक सकती। ऐसे ही एक व्यक्ति हैं अंब अनुमंडल के कटौहड़ कलां पंचायत के बदायूं गांव के दिव्यांग निषाद कुमार।

तमाम चुनौतियों का सामना करते हुए निषाद न सिर्फ अपने हुनर ​​का लोहा मनवा रहे हैं, बल्कि देश-विदेश में अपने गांव और राज्य का नाम भी रोशन कर रहे हैं. बदायूं गांव के निषाद दुबई के बाद अगस्त में जापान के टोक्यो में होने वाले पैरा ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर एक बार फिर हिमाचल का नाम रौशन करने जा रहे हैं. इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले निषाद राज्य के इकलौते एथलीट हैं।


निषाद कुमार के कोच कौन हैं? (Who is Nishad Kumar’s coach?)

साल 2019 में निषाद ने दुबई में आयोजित वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स ग्रैंड फ्री में 2.05 मीटर ऊंची छलांग लगाकर गोल्ड मेडल जीतने के साथ ही टोक्यो का टिकट भी हासिल किया था।


पैरालिंपिक 2020 में निषाद कुमार देश के लिए दूसरा रजत पदक लाए (Nishad Kumar Second medal for the country in Paralympics 2020)

यह टूर्नामेंट में भारत का दूसरा पदक है। इससे पहले टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना पटेल ने आज सुबह ही देश को रजत पदक दिलाया था। 

भावना बेन रविवार को चौथी कक्षा के महिला एकल फाइनल में चीन की झोउ यिंग से हार गईं। उन्हें यिंग ने सीधे मैच में 7-11, 5-11, 6-11 से हराया। हालांकि, इसके बावजूद वह टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारत को पहला रजत पदक दिलाने में सफल रहीं।


पैरा-एथलीट निषाद कुमार का रिकॉर्ड (Records of Para-athlete Nishad Kumar)

पैरा-एथलीट निषाद कुमार ने एक नया एशियाई रिकॉर्ड बनाया। पैरा-एथलीट निषाद कुमार ने एक नया एशियाई रिकॉर्ड बनाया।

निषाद शुरू से ही शानदार फॉर्म में थे और उन्होंने पहले प्रयास में ही 2.02 मीटर की छलांग लगा दी। इसके बाद भारत के इस पैरा-एथलीट ने दूसरे प्रयास में 2.06 मीटर की छलांग लगाकर नया एशियाई रिकॉर्ड बनाया।

निषाद, हालांकि, तीनों प्रयासों में 2.09 मीटर की छलांग को पार करने में विफल रहे, जिससे उनका स्वर्ण पदक जीतने का सपना अधूरा रह गया। निषाद उन खिलाड़ियों में से एक थे जिनसे भारत को पैरालंपिक खेलों में पदक की उम्मीद थी। पैरालिंपिक 2020 में भारत को अब तीन पदक मिले हैं जिसमे दो रजत और एक कांस्य शामिल है।


Post a Comment

0 Comments